Top 10 Stories on Lalach Buri Bala Hai In 2021

Lalach Buri Bala Hai:- हेलो दोस्तों अगर आप लालच बुरी बाला हे (Lalach buri bala hai) के ऊपर स्टोरी ढूंढ रहे है तो आप बिलकुल सही जगह पे ह।

हम इस आर्टिकल में १० बेस्ट लालच पूरी बाला हे (Lalach buri bala hai) इस सिख के बारेमे शेयर कर ने वाले हे।

कहानिया ज्यादा तर बचो को बहत पसंद अति है, और कहानियो सिख बचो के दिमाग पर बहत असर डालती हे।

Top 10 Stories on “Lalach Buri Bala Hai” In 2021 

The greedy lion – लालची शेर

एक घने जंगल में एक खतरनाक शेर रहता था। एक बार गर्मियों में एक दिन शेर को बहुत ज़ोरो से भूक लगी। 

उसने सोचा की पहले पास बाली नदी पे जाकर पानी पीलु और वही कहीं खाना भी ढूंढ़ लूंगा। 

वो अपनी गुफा से बाहर आया और पानी पीने के लिए नदी की तरफ चला गया। पानी पीकर बेह इधर उधर खाना ढूंढने लाग। तभी वहां उसे एक छोटा खरगोश दिखा। 

उसने तुरंत ही खरगोश को पकड़ लिया। फ़िर उसने सोचा की ये छोटा सा खरगोश मेरा पेट केसे भरेगा। बेह उस खरगोश को मारने की बाला था तबी उसे एक हिरण पास से जाता हुआ दिखा। 

शेर को हिरण को देख कर लालच आ गया। उसने सोचा की इस छोटे से खरगोश की जगह हिरण का सिकार किया जाए। जिसको वह थोड़ा अभी ओर थोड़ा रात में खा सकेगा।

कहानी का नैतिक – लालच बुरी बला है। जितना मिले उसी में खुश रहना चाईये।

Greedy Farmer – लालची किसान

Lalach buri bala hai

एक गाव में एक किसान रहता था। वह बहुत ही ज्यादा लालची था। एक दिन वो अपने खेत में बीज (सीड्स) बोह रहा था। तभी उसे मिटटी में एक हीरा मिला। वो हीरे को देखके बहुत खुश हो गया और हीरे को तुरंत अपनी जेब में रख लिया। लेकिन वह बहुत ही लालची था।

उस १ हीरे से उसका पेट् नही भरा। वो और हीरो का लालच करने लाग। वह खेत को और निचे तक खोडने लगा।  वेह लगातार खोदता ही जा रहा था। लेकिन उसे कुछ भी नही मिल रहा था। फिर हार मनके उसने घर जाने का सोचा।

उसने हीरा देखने के लिए जैसे में जेब में हाथ डाला। वो चौंक ग्या। अब हीरा उसकी जेब में नही था। वो उस इकलोते हीरे को भी खो चूका था। लालच की वजेह से उसने जो मिला था वो भी खो दिया।

मोरल ऑफ थे स्टोरी – जादा लालच करोगे तोह जो है उसे भी खो दोगे!

Greedy Boy – लालची लड़का

यह कहानी एक लालची लड़के की है जिस्का नाम सैम है। वेह कभी बी जो बी उसके पास है उससे खुश नही होता । वो हमेशा ज्यादा ही चाहता।

एक बार उसकी दादी ने उसको १०० रुपए दिए बाहर जाकर कुछ खाने पीने के लिये। लेकिन वह उन्ह १०० रुपए से खुश नही हुआ और अपनी दादी से और ज्यादा रुपया मांगने लगा। 

उसकी दादी ने उसको अपने पास बैठया और बोली की तुम्हारी आदतें तुंहरे अंकल की तरह है। वो भी कभी जो मिलता उसमे खुश नही रेह्ते थे। हमेशा ज्यादा पाने की चाह रखते थे।

एक दिन उन्होंने अपनी सारी सेविंग्स अपने बिज़नेस में लगा दी क्युकी उसको बिज़नेस का मुनाफा कम लग रहा था तो मुनाफा बडाने के लिए उन्होंने अपनी साडी सेविंग्स बिज़नेस में लगा दि। लेकिन किसी कारन भरष उनका बिज़नेस आगे सही से नही चला। और उसको सारा रुपया खराब हो गया और साडी सेविंग्स भी ख़तम हो गइ। 

ये सुन कर सैम ने एक लेसन सीखा की जितना मिला उस में खुश रेहना चाहिए। लालच बुरी बाला है। सैम ने अपनी गलती मानी और प्रॉमिस किया की अब वो लालच नही क्रेग।

मोरल ऑफ थे स्टोरी – लालच बुरी बला है जिसकी वजह से जो अपने पास है आप उसे भी खो सकते हो। 

Greedy Cat – लालची बिल्ली

Lalach buri bala hai

मिलि, एक लालची बिल्ली। जो भी उसके पास था वो उससे कभी भी सटिस्फीएड नही होती थी। हमेशा लालच करती रहती थी। एक बार उसके बर्थडे पर उसकी दोस्त ने उसको एक सोने का नेकलेस गिफ्ट में दिया।

वह सिर्फ रोज को ही इन्विते करती थी उसके बर्थडे पे क्योंकि वो रिच थी। वो कभी भी बाकि फ्रेंड्स को इन्विते नही करती थी क्योंकि वो सब गरीब थे और ज्यादा कुछ नही दे पाते थे उसके बर्थडे पर।

एक दिन मिली ने सोचा की क्यों न जो नेकलेस है उसको बेचा जाये क्योंकि वो नेकलेस काफी मेहगा था। वो कई दुकानो पर नेकलेस बेचने के लिए गयी लेकिन सारे ही दुकान बलो का प्राइस उसे कम ही लग रहा था। वो और पैसो की लालच रही थी। 

आखिर में वो नेकलेस को नही बीच पाई और घर की तरह भड़ने लगी। तभी वह कुछ चोर आ गये और उससे जबरदस्ती नेकलेस चीन ले गये। फिर मिली को बहुत पछताना पड़ा अपनी लालच की वजेह स। 

Moral of the Story – हमेंशा जो है आपके पास उसी मे खुश रहो। 

Greedy hippo – लालची हिप्पो

एक समये की बात है, एक जंगल में एक लालची हिप्पो रहता था। हिप्पो हमेशा बहुत ज्यादा खाना खया करता था। वो दूसरे जानवरों का भी खाना खा जाता था। एक दिन, खाना खाकर वो नहाने गया अपने पूल मे। उसने अपना स्विमिंग तुबे निकला लेकिन उश्के मोटपे की वजह से वो उसमे फस ग्या। 

बाकी सारे जानवर उसको बाहर निकालने के लिए खींचने लगे। उन सब के बहुत प्रियास के बाद वो उसे बाहर निकालने में कमियाब रहे। लेकिन उस हिप्पो ने किसी का भी सुकरिया अदा नहीं करा। 

वह फ़िर से उन जानवरो का खाना खाने लगा। ये देखकर बाकी सारे जानवरो ने हिप्पो को सबक सिखाने का सोचा। 

एक दिन जानवरों ने ब्रेड बनाया जिसके अंदर उन्होंने साबुन भर दिया था। हिप्पो आया और ब्रेड खा गया। 

फिर वह अपने घर जाकर सो गया। रात में उसके पेट में बहुत ही ज़ोरो से दर्द होने लगा। जब उसे पता चला कि ये सब बाकी जनबरो ने उसे सभक सिखाने के लिए किया है। तब उसने सबसे माफ़ी मांगी और वहां से चला गया।

Moral of the story – हमें कभी भी लालच नही करनी चाहिए और दूसरो का हमेंशा सम्मान करना चाहिए। 

Greedy Dog – लालची कुत्ता

Lalach buri bala hai

एक बार की बात है। एक कुत्ते को बहुत भूक लगी थी। वह इधर उधर खाने की तलाश कर रहा था। फिर अचानक उसे एक हड्डी पढ़ी हुई मिली। जिसको देखकर वह बहुत खुश हुआ और हड्डी को मुंह में दबाकर घर की तरफ जाने लगा। 

घर जाते हुए रास्ते में एक पुल पड़ा। जब वह उस पुल को क्रॉस कर रहा था। तभी अचानक उसकी निगाह पानी की तरफ पड़ी। पानी में खुद को देख कर उसे लगा की यह कोई और कुत्ता है जिसके पास भी एक हड्डी है। 

उस ने सोचा की में इस कुत्ते को दरा इसकी हड्डी चीन लूंगा फिर मेरे पास 2 हड्डी हो जाएगी। दूसरी हड्डी की लालच की वजह से जैसे ही उस ने भौंकने के लिए मुंह खोला । उसकी हड्डी पानी में गिर गई। इस तरह लालाच की वजह से कुत्ते ने जो उसके पास हड्डी थी वो भी खोदी। फिर बादमे बहुत पछताया।

Moral of the story – Lalach Buri Bala Hai।

Greedy fox – लालची लोमड़ी

गर्मियों में एक दिन एक फॉक्स (लोमड़ी) बहुत भोखी थी। वह नदी के पास खाने की तलाश में गई। जंगल में भी वह इधर उधर खाने की तलाश में थी। उसे कुछ मिल नहीं रहा था। तभी अचानक उसे एक छोटा सा केकड़ा दिखा। उस ने उस छोटे से केकड़े को पकड़ लिया। लेकिन वह सोचने लगी कि यह छोटा से केकड़े से मेरा पेट केसे भरेगा। 

तभी अचानक उसको कुछ आवाज़ सुनाई दी। एक खरगोश भाग ते ह हुए अपने घर जा रहा था। लोमड़ी को लालच आ गया उस ने केकड़े को छ्रोर दिया और खरगोश को पकड़ने के लिए उसके पीछे भागी। लेकिन वह उसे पकड़ नहीं पाई। और खरगोश भाग निकला। फिर लोमड़ी को बहुत पछतावा हुआ। और वह भूकी ही रही जादा लालच करने की वजह से। 

नैतिक: हाथ में छोटी मात्रा में चीजें दूरी में बड़ी राशि के बराबर होती हैं।

Greedy monkey – लालची बंदर

Lalach buri bala hai

एक गांव में एक बड़े से पेड़ के ऊपर एक बंदर रहता था। एक दिन वह बहुत ही भूंका था। वह खाने की तलाश में गांव के एक किसान के घर में घुस गया। वहां एक गेहूं से भरा डब्बा रखा हुआ था। उस ने वहां रखे एक डब्बे के छोटे से छेद से डब्बे के अंदर हाथ डाला। उस में उसे गेहूं महसूस तो वह बहुत खुश हो गया। 

उस ने हाथ में गेहूं भर के हाथ बाहर निकालने की कोशिश की पन्तु छेद बहुत छोटा था। उस छेद में से सिर्फ धोड़ा गेहूं ही बाहर निकाला जा सकता था। लेकिन बंदर बहुत लालची था। उसका पेट थोड़े से गेहूं से नहीं भरता। उसे जादा से जा दा गेहूं खाने थे। 

तभी अचानक उस किसान का कुत्ता आ गया। और उस कुत्ते ने बंदर को पकड़ कर मार दाला। बंदर को लालच की वजह से अपनी जान से हाथ धोना पड़ा।

नैतिक।  लोभ जैसी कोई बुराई नहीं।

Greedy Rich Man – लालची अमीर आदमी

यह एक लालची अमीर आदमी की कहानी है जिसे कि एक बार एक परी से मिलने का मौका मिला। दरअसल, एक परी के बाल पेड़ो की शाखाओं में फस गए थे। तभी वहां से जा रहे आदमी से परी ने सहायता मांगी। 

यह देख की यह एक परी है। वह आदमी लालच में आ गया। उस ने उस परी से की में आपकी मदद कर दूंगा लेकिन बदले में मुझे क्या मिलेगा।

परी ने बोला जो तुमको चाइए बता दो में तुम्हे देदुंगी। आदमी में पहले परी की मदद करी फिर बदले में उस ने परी से बोला कि मुझे ऐसी शक्ति दो जिससे में जिसे भी में छु लू वह सोने की हो जाए। परी म ने उसे यह शक्ति देदी।

वह लालची आदमी खुशी में भागते हुए अपने की और निकलाघर। वहां पड़े हुए पढ़ढर और कंकर को सोने में बदलते हुए। जैसे ही वह अपने घर पहुंचा, उसकी बेटी उससे मिलने आ गई। जैसे ही उस ने अपनी बेटी को छुआ। उसकी बेटी भी सोने की बन गई। 

उसे वहां अपनी गलती का ऐहसास हुए फिर वह पूरी ज़िन्दगी उसी परी को ढूंढने में निकली।

कहानी नैतिक :- लालच हमेशा पतन की ओर ले जाता है।

Greedy Wolf – 

एक जंगल में एक बड़ा सा हांथी रहता था। जो की बहुत ही शक्तिशाली था। लेकिन वह कभी भी किसी दूसरे जानवरों को नुक्सान नही पहुंचाता था। सारे जानवर उसको पसंद करते थे। वह हांथी बाकी सारे जानवरो के साथ सांति से रहता था।

एक दिन दूसरे जंगल से एक भेड़िया जंगल में आया। जैसे ही उसने हांथी को देखा तो सोचा कि। वाह कितना बड़ा और मोटा हांथी है। मुझे इसको मारने का प्लान बनाना पड़ेगा। ये मेरी और मेरे दोस्तों की भूंक बहुत दिनों तक के लिए मिटा देगा। 

उसने अपने दोस्तों को बताया और प्लान बनाया हांथी को पकड़ने का। अगले दिन भेड़िया उसके दोस्तों के साथ हांथी के पास गया और बोला ए महान हांथी, आप इतने शक्तिशाली हो, आपको तो बड़े बाले जंगल का राजा होना चाइए। आप वहां राज़ करना डिजर्व करते हैं। हमारे साथ चलिए, वहां की शानदार मोज से भरी ज़िन्दगी आपका इंतज़ार कर रही है।

हांथी ये सब सुनकर खुश हो गया। और उनके साथ जाने के लिए मान गया। हांथी भेड़ियों के प्लान से अनजान था। वह उनके साथ दूसरे जंगल की तरफ चलने लगा। रास्ते में एक बहुत बड़ा दलदल था, हांथी उस में गिर गया और मर गया। भेड़िए अपनी चाल में कामियाब हो गए।

Moral of the story- Lalach Buri Bala Hai!!

The Greedy Crow – लालची कौआ

Lalach buri bala hai

एक बार की बात है। एक कबूतर वहां एक किचेन के पास अपने घोस्ले में रहता था। किचेन का मालिक बहुत दयालु था। वह रोज रोज़ कबूतर को खाना डे देता था। वह कबूतर वहां आराम से रह रहा था।

एक दिन एक कौवा ने कबूतर को देखा और ये भी देखा की केसे वो किचेन का मालिक उसे रोज़ रोज खाना देता था। फिर कौवे ने कबूतर से दोस्ती करली। कबूतर ने अपने दोस्त को बी अपने घोसले में रहने दिया। 

कबूतर ने कौवे से बोला कि वो साथ में पॉलिटिक्स और रिलिजन के ऊपर और रोज़ गप्पे लड़ा सकते हैं। पर जब बात खाने की आयी, तो कबूतर ने बोला की  वो तुम खुद ढूंढ़ना।

इसीलिए उस ने कौवे से अपना खाना खुद ड्ढूढने को बोला। लेकिन कौवे ने कबूतर से दोस्ती सिर्फ खाने के लिए ही की थी। फिर कबूतर उसे खाना देने को मान गया। कौवे को मीट खाना था लेकिन कबूतर को खाने में सिर्फ कुछ रोटी के टुकड़े मिलते थे।

इसलिए कौवे ने किचेन से मीट चुराने का सोचा। एक दिन उसे चिमनी से मछली की खुस्बू आयि। उसे लालच आ गया और वह किचेन में मछली लेने चला गया। वह जैसे ही चोरी करने के लिए किचेन में घुसा वहां पर किचेन के मालिक ने उसे पकड़ कर मार दिया। इस तरह कौवे ने लालच की वजह से जान से हाथ धोना पड़ा।

नैतिक: लालच बुद्धि को भ्रस्थ कर देता है।

इसे भी पढ़े

Few Words

दोस्तों ये था हमारा आर्टिकल लालच बुरी बाला है [Lalach Buri Bala Hai]। आशा कर ता हु आपलोगो को ये आर्टिकल पसंद आया होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.