Motu Patlu ki Kahani | श्रेष्ठ मोटू पतलू की कहानी इन हिंदी

Motu Patlu ki Kahani- अगर आप मोटू पतलू के फैन हैं और मोटू पतलू की कहानी (Motu Patlu ki Kahani) धुंध रहे हैं तो आप बिलकुल सही जगह पर है।

इश आर्टिकल में हम सबसे अच्छी मोटू पतलू की कहानी (Motu Patlu ki Kahani) बताएंगे 

Scientist Motu Patlu ki Kahani

एक बार की बात है जब डॉक्टर झटका बॉक्सर और चिंगम सर आपस में मोटू पतलू के बारे में बात कर रहे थे समोसा वाले की दूकान पर बैठकर।

द्र झटका – मुझे तो मोटू पतलू की बहुत चिंता होती है यार अपना भला बाद में सोचते हैं बाकि सब का पहले ।

वाह अपने बारे में भी कुछ करें यार कोई काम धंधा करें यार जैसे की मैं एक साइंटिस्ट हुन चिंगम सर इंस्पेक्टर हैं आप बॉक्सर है।।

हमें उनके लिए कुछ प्लान करना होगा यार।

घसिटाराम – उडी बाबा प्लान बनाने का मेरे पास २० साल का तजुरबा है ।।

मेरे पास एक बहुत ही बढ़िया प्लान है सुनो।।

फिर वह सब मिलकर मोटू पतलू को उकसाने का कोशिश करते हैं ताकि वह अपने भले में भी कुछ करें और कुछ काम धंधा करने लगें।

चाय वाला अपनी दूकान पर बोर्ड लगा लेता है की यहाँ फालतू बैठना मन है।

Motu Patlu ki Kahani

मोतु – बड़े भैया यहाँ यह बोर्ड लगाकर आपने बहुत अच्छा काम किया है।।

दुकान चाय नाश्ते के लिए होती है न की टाइम पास के लिये।

चायबाला – अरे तुम दोनों के लिए ही तो लिखा है तुम दोनों कोई काम धंधा तो करते नहीं हो पुरे दिन फुरफुरी नगर में घूमते रहते हो सैड सपाटा करते रहते हो।

मोतु – चाय वाले भैया तुमने हम दोनों को फालतू कहा चिंगम सर क्या हम दोनों फालतु हैं।

चिंगम – तुम दोनों के पास कोई काम धंधा तो है नहीं सिर्फ फालतू दिन भर भूमिका रहते हो ।

बॉक्सर – तुम दोनों तो एकदम फालतू हो फालतू ओय।

द्र। झटका – और मैं क्या करून मेरे यार यह लोग सच कह रहे हैं देखो में साइंटिस्ट हुन चिंगम सर स्पेक्ट्रर हैं और ये एक बॉक्सर है ये चाईबाला है पर तुम दोनों क्या हो? 

यार में पूछता हु तुम दोनों क्या हो यरररर बतओ। जो कुछ नहीं करता उसे फालतू कहते हैं यार ह।।

पटलू – अरे कैसे दोस्त हो तुम सब अपने दोस्तों को फालतू कह रहे हो चलो मोटू अब यहाँ एक मिनट भी नहीं रुकेंगे।

मोतु – बड़े भैया हम दोनों कुछ ऐसा करके दिखाएंगे की सब की आँखें खुली की खुली रह जाएंगी । बड़े भैया हम दोनों भी साइंटिस्ट बन कर दिखाएँगे।

इतना कह कर मोटू और पतलू वहाँ से ग़ुस्से में अपने घर चले जाते हैं और घर को ही अपनी साइंटिस्ट लैब बना लेते हैं और वहां पर ३ महीने तक जी तोड़ म्हणत करते हैं ।।

३ महीने हो गए और अभी तक मोटू पतलू किसी को भी दिखाई नहीं दिए इस बात का पता करने की क्या हुआ है उन्हें डॉक्टर झटका , चिंगम सर और घसिटाराम उनके घर जाते है।।

ड़र। झटका – अरे मोटू और मेरे बड़े भाई दरवाजा तो खोलो  यार यह तो बता दो आखिर हुआ क्या है।

चिंगम – मोटू पतलू ओपन थे डोर तुम्हें कानून की कसम भारत माता की कसम दरवाजा खोलो।

फिर चिंगम सर और बाकि सब गेट को तोड़ कर अंदर जाते हैं लेकिन मोटू और पतलू देखने में कुछ अजीब लग रहे होते है

घसिटाराम – उडी बाबा तुम दोनों कौन हो यहाँ तो मोटू पतलू ही रहते थे ना।

मोतु – अरे हम ही दोनों मोटू पतलू है।

पटलू – हाँ हम ही दोनों मोटू पतलू है आप लोगों की बातों हमारा मन ऐसा बदला की हम दोनों भी साइंटिस्ट बन गए हैं यह देखो हमारा इन्वेंशन।

इस गैजेट की रेज हम जिसके ऊपर डालेंगे सामने वाला जो काम कर रहा होगा वही करता रहेगा ।

मोटू – बस अब हम यही सोच रहे थे की या इसका टेस्ट किसके ऊपर करे

घसिटाराम – उडी बाबा भागो।

मोतु – अरे कहाँ भाग रहे हो हमें अपना गैजेट टेस्ट तो करने दो।

फिर मोटू पतलू को वहां पर बॉक्सर बॉक्सिंग करते हुए मिलता है जिसके ऊपर बा अपना गैजेट टेस्ट करते हैं ।।

ओर उनका टेस्ट कामयाब होता है बॉक्सर अपने आप बॉक्सिंग करने लगता है

बॉक्सेर – ओय मोटू तुम्हारे गैजेट ने असर दिखा दिया है मैं अपने आप ही बॉक्सिंग कर रहा हुन।

रुक ही नहीं पा रहा हूँ ।

मैं तुम दोनों को छोड़ूँगा नहीं।

फिर जॉन चोर का पीछे करते हुए चिंगम सर बाहर से निकलते हैं तभी मोटू और पतलू उनके ऊपर भी अपने गैजेट का इस्तेमाल करते हैं

कहींगाम – यह तुम दोनों ने क्या किया मैं तुम दोनों को छोड़ूँगा नहीं।

और वह बार बार fire करते रेह्ते हैं।

अपने आप को रोक ही नहीं पाते है।

फिर वहां से भागते हुए मोटू पतलू डॉक्टर झटका की लेब में पहुँचते हैं जहाँ पर घसिटाराम भी होता है वो दोनों अपना एक्सपेरिमेंट कर रहे होते है।

मोतु – बड़े भैया तुमने अपने गैजेट का इस्तेमाल हमारे ऊपर कितनी बार किया है एक बार हमें भी तो करने दो।

द्र। झटका – अरे मेरे भाई मेरे मेरे प्रभु मेरे ऊपर टेस्ट मत करना यार मत करना।

फिर मोटू पतलू वहां पर उन दोनों के ऊपर अपना गैजेट टेस्ट करके चले जाते हैं और फिर वह दोनों बार बार अपने एक्सपेरिमेंट करते रहते है।

घसिटाराम – उडी बाबा इन दोनों की गैजेट का असर कब तक रहेगा डॉक्टर झटका बताओ कुच।

वहां से मोटू और पतलू चाय वाले भैया की दूकान पर जाते हैं जहाँ पर चाईबाला उन्हें पहचान नहीं पता है।

चायवाला – बताओ भैया क्या खाओगे तुम दोनो।

मोतु – अरे बड़े भैया पहचना नहीं क्या? हमे समोसा खिला दो।

चाईबला – हैं? मोटू पतलू तुम दोनों तो बिलकुल ही बदल गए क्या हो गया भाया।

पटलू – अब हम दोनों भी साइंटिस्ट बन गए हैं और हम दोनों ने एक गैजेट बनाया है।

मोतु – लेकिन चाय वाले भैया हमारा गैजेट कोई भी अपने ऊपर टेस्ट करने ही नहीं दे रहा प्लीज आप अपने ऊपर करने दो ना।

चायवाला – क्या कहा अपना गैजेट मेरे ऊपर टेस्ट करोगे? भगो यहाँ से।

फिर मोटू और पतलू वहां से अपना गैजेट्स चाईबाले के ऊपर टेस्ट करके भाग जाते हैं और चाई बाला बार बार समोसे बनाने लगता है। 

चाईबाला – अरे यह क्या हो रहा है रोको कोई तो रोको मुझे।

याह क्या कर दिया मोटू पतलू ने मैं खुद को रोक ही नहीं पा रहा हु।

ऐसे कब तक समोसे बनता रहुंगा।

फर थोड़ी देर बाद मोटू और पतलू के गैजेट का असर सब के ऊपर से खत्म होने लगता है।

बॉक्सेर – ओय मैं सही हो गया ।

चिंगम – हाँ हाँ मैं सही हो गया उन दोनों के गैजेट का असर ख़त्म हो गया।

घसिटाराम – उडी बाबा हम दोनों सही हो गए।

ड्र झटका – ओ बल्ले बल्ले ओय सा बा सा बा ।

चाई बाला – ऊपर वाले तेरा धन्यवाद मैं ठीक हो गया

फिर वह सब मोटू पतलू को मारने(असलियत में उनका सुक्रिया करने) के लिए उनका पीछे करने लगते हैं मोटू पतलू सब को देखकर भाग ने लगते है।

पटलू – भाग मोटू भाग।

बॉक्सेर – कोई रुक जाओ हो तुम दोनों। क्यों भाग रहे हो।

मोतु – दोस्तों हम तो सिर्फ अपना गैजेट को टेस्ट करना चाहते थे।

बॉक्सेर – अरे मेरे भाई तुम्हारी गैजेट की वजह से मैं इतनी प्रक्टिस करी है की अब कोई भी बॉक्सर मुझसे जीत नहीं पाता है तुम दोनों का बहुत बहुत शुक्रिया।

द्र। झटका – अरे मेरे भाई मेरे प्राय। हाँ तुम दोनों की गैजेट की वजह से मैने इतने एक्सपेरिमेंट किये हैं की अब मैंने सही फार्मूला ढूंढ लिया है।

मोतु पतलू थैंक यू यार।

चाई बाला मोटू पतलू मेरी तरफ से भी थैंक यू मैं भी समोसे बानाना बनाकर समोसा एक्सपर्ट बन गया हु।

चिंगम – मेरी तरफ से भी थैंक यू मोटू पतलु।

यह सुनकर मोटू और पतलू बहुत खुश हुए और वह सब हस्ते खेलते हुए अपने अपने घर चले गये।

     हैप्पी एंडिग

मोरल ऑफ स्टोरी – अगर कोई व्यक्ति कुछ काम करने का थान ले तो उसे कोई नहीं रोक सकता ।

लास्ट वर्ड्स 

आंसा करता हु की आप सभी को मेरा यह आर्टिकल जो की मोटू पतलू की कहानी (Motu Patlu ki kahani) के ऊपर था  अच्छा लगा होगा!

धनयवाद!!

Scientist Motu Patlu ki Kahani 2

Motu Patlu ki Kahani

Leave a Reply

Your email address will not be published.